+0121 243 9032
Chhoti Panchli, Bagpat Marg, Meerut, Uttar Pradesh 250002
09:00 - 21:00
0
  • No products in the cart.
VIEW CART Total: 0.00

आश्रम

IASSआश्रम
#striped-custom-65104d199ab2d h3:after {background-color:#e07523!important;}#striped-custom-65104d199ab2d h3:after {border-color:#e07523!important;}#striped-custom-65104d199ab2d h3:before {border-color:#e07523!important;}

आश्रम के बारे में

यदि आप भीड़-भाड़ और दिन-प्रतिदिन की व्यस्त जीवन शैली से दूर एक शांत जगह की तलाश में हैं, तो यह वह जगह है जहाँ आपको अवश्य जाना चाहिए। ध्यान और मौन में समय बिताने के लिए यह सबसे निश्चित रूप से अनुकूल है।

आश्रम से संबंधित जानकारी

बदरी नारायण सेवाग्राम, इंटरनेशनल एसोसिएशन फॉर साइंटिफिक स्पिरिचुअलिज्म (IASS) का मुख्यालय है जो की उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में छोटी पांचली नामक गाँव में स्थित है| इसका 5 एकड़ का परिसर बहुत सारे सुंदर खिले हुए फूलों, मखमली हरी घास के साथ-साथ जैविक रूप से उगाए गए फलों और सब्जियों से सुशोभित है। परिसर यातायात के शोर और प्रदुषण से मुक्त है | प्रेरणा स्रोत गुरुदेव पूज्य योगीजी महाराज की समाधी 'प्रेम स्थली' तथा ध्यान कक्ष "कृपालय" , ये दो अत्यंत पवित्र स्थान है. सत्संग भवन हृदय कुञ्ज आश्रम का हृदय स्थल है जहाँ प्रतिदिन दोनों समय ध्यान व् सत्संग होता है.

आश्रम 1994 में शुरू हुआ | सभी इमारतों का रखरखाव अच्छी तरह से किया गया है और इसमें पुरुष और महिला दोनों के लिए निवास की समुचित व्यवस्था है लगभग 200 साधक एकसाथ ठहर कर यहाँ होने वाले विभिन्न शिविरों में भाग ले सकते हैं

यदि आप भीड़-भाड़ और दिन-प्रतिदिन की व्यस्त जीवन शैली से दूर एक शांत जगह की तलाश में हैं, तो यह वह जगह है जहाँ आपको अवश्य जाना चाहिए। ध्यान और मौन में समय बिताने के लिए यह सबसे निश्चित रूप से अनुकूल है।

अधिकांश आश्रमों के विपरीत, यहाँ अधिकतर साधक परिवार के साथ रहते हुए सेवा करते हैं।

तप सेवा सुमिरन का प्रमुख केंद्र बदरी नारायण सेवाग्राम है जहाँ सभी उम्र के साधक रहते हैं।

साधना सीखने के लिए बिना किसी खर्च के तीन दिनों तक अतिथि के रूप में रहने की अनुमति दी जा सकती है। तीन दिनों के बाद यदि आश्रम आपको अधिक ठहरने की अनुमति देता है तो केवल भोजन के लिए नाममात्र का शुल्क लिया जाता है।

यह अपेक्षा की जाती है कि आप सुबह और शाम के सत्संग में भाग लें और अपने समय का कम से कम एक घंटा प्रतिदिन आश्रम की निःस्वार्थ सेवा करें । इसके अलावा, आप आश्रम के नियमों का पालन करते हुए समय बिता सकते हैं किन्तु आश्रम में आने का उद्देश्य केवल और केवल साधना सीखना व उसका अभ्यास करना ही होना चाहिए|

दिल्ली से IASS कैंपस कैसे पहुंचे?

कार से :
(i) दिल्ली-देहरादून रोड-मेरठ बाईपास पर आगे बढ़ें
(ii) 59वें किमी पर क्रॉसिंग पर। पत्थर, बागपत रोड पर बाएं मुड़ें।
(iii) गांव छोटी पांचली के लिए बागपत रोड पर 3.5 किमी तक चलें।
(iv) दाहिने खोज बोर्ड पर - बदरी नारायण सेवाग्राम।
(v) Turn to the right and move up to 500 meters

BY BUS :
(i) दिल्ली - मेरठ बस लें
(ii) पुराने बागपत बस स्टैंड पर उतरें
(iii) रिक्शा (1 किमी) लें और न्यू बागपत बस स्टैंड पर पहुंचें
(iv) छोटी पांचली के लिए बस लें।
(v) दायीं ओर फाइंड बोर्ड - बदरी नारायण सेवाग्राम।
(vi) दायीं ओर मुड़ें और ५०० मीटर तक चलें।

ट्रेन से:
(i) 'मेरठ सिटी' रेलवे स्टेशन पर उतरें
(ii) नए बागपत बस स्टैंड के लिए रिक्शा लें (4 किमी।)
(iii) छोटी पांचली गांव के लिए ऑटो रिक्शा लें
(iv) दाईं ओर बोर्ड खोजें - बदरी नारायण सेवाग्राम
(v) Turn to the right and move up to 500 meters

आश्रम में निम्नलिखित आचार संहिता है:

1) मेहमानों को तप-सेवा-सुमिरन दर्शन सीखना चाहिए। आश्रम में रहना उनका मुख्य उद्देश्य होना चाहिए।
2) कोई भी नशा सख्त वर्जित है। धूम्रपान, शराब की अनुमति नहीं है।
3) किसी भी असाधारण असाधारण परिस्थितियों को छोड़कर प्रत्येक प्रवचन में भागीदारी नियमित रूप से की जानी चाहिए।
4) पास के गाँव की अनियोजित यात्रा को प्रोत्साहित नहीं किया जाता है।
5) अतिथि का कोई भी मित्र यदि आश्रम आता है तो उसकी पहचान अवश्य प्रकट की जानी चाहिए।
6) सभी विदेशियों को स्थानीय सरकार द्वारा आवश्यक रूप से फॉर्म भरना होता है। पासपोर्ट नंबर, ठहरने का उद्देश्य आदि का उल्लेख करने वाला विभाग।
7) भोजन सख्ती से शाकाहारी होना चाहिए। यहां तक ​​कि परिसर में अंडे और मछली की भी अनुमति नहीं है।
8) देर रात तक आश्रम में आने से बचना चाहिए।
9) आश्रम के सभी मेहमानों से अपेक्षा की जाती है कि वे अपने साथ निम्नलिखित ड्रेस कोड के अनुसार कपड़े लाएँ:

देवियों:

- सलवार और चुन्नी के साथ हाफ/फुल स्लीव कुर्ता सबसे पसंदीदा ड्रेस साड़ी ब्लाउज (आधी/फुल स्लीव) है।
- रात के समय अपने-अपने कमरों में नाइटी/गाउन की अनुमति है।
- शॉर्ट्स स्लीवलेस शर्ट, जींस और डीप नेक टॉप पहनने से बचना चाहिए।
18 साल से ऊपर के स्कर्ट टॉप पर सख्त मना है।
मर्द:
- शर्ट/पेंट या कुर्ता/पैजामा सबसे पसंदीदा ड्रेस है।
- रात के समय अपने-अपने कमरों में लुंगी/आधा पेंट की अनुमति है
- हाफ पेंट, स्लीवलेस टॉप पहनने से बचना चाहिए।
**** विदेशी मेहमानों के लिए इन पोशाकों की व्यवस्था आश्रम से किराये पर की जा सकती है। ****
5:30 AM

उठो

कॉल करें और रिकॉर्डेड भजन बजाएं

6:30-8:00 AM

ध्यान

भगवद गीता पर प्रवचन

8:00-11:00 AM

सेवाएँ

व्यक्तिगत काम और निस्वार्थ सेवा

11:00-11:15 AM

जूस/सूप

सर्दियों में सादा सब्जी का सूप या गर्मियों में ठंडे फलों का रस

12:00-12:30 PM

ध्यान

ध्यान में बैठें

12:30-1:30 PM

दोपहर का भोजन

कच्चे फल, सलाद और कुछ पकी हुई मिश्रित सब्जियां शामिल हैं

1:30 TO 4:00 PM

सेवा/सेवाएं

निःस्वार्थ सेवा

4:00 TO 4:30 PM

नाश्ता ब्रेक

हर्बल चाय या जूस के साथ नाश्ता

6:30 TO 8:00 PM

ध्यान

ध्यान, श्री रामचरितमानस पाठ, वीडियो प्रवचन

8:30 TO 9:00 PM

रात का खाना

उचित भोजन जैसे दाल, रोटी, सब्जी, रायता आदि।

10:00 PM

दिन का अंत

साधक सोने और आराम करने के लिए अपने कमरे में जा सकता है.