चिकित्सा विज्ञान की भ्रान्तिया

50

Pages: 42

Note – Calculated Delivery Period is 3-5 Days

Description

लेखक ने चिकित्सा विज्ञान की धज्जियाँ उड़ा दी हैं. यह सिद्ध किया है कि दवाओ से स्थाई तंदुरुस्ती नहीं है, प्रत्येक दवा नई बीमारी उत्पन्न करती है तथा मेडिकल प्रैक्टिस एक व्यापार हो गया है. डा. श्रीवास्तव ने सिद्ध किया है की उपवास एक अचूक उपचार है.

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “चिकित्सा विज्ञान की भ्रान्तिया”